काबू में रहेगा ब्लड शुगर, डेली रूटीन में ये 7 बदलाव Diabetes के मरीजों के लिए हैं जरूरी

 Diabetes Lifestyle: जिन लोगों में विटामिन डी पर्याप्त मात्रा में मौजूद हो, उनमें टाइप 2 डायबिटीज का खतरा 43 प्रतिशत कम हो जाता है

काबू में रहेगा ब्लड शुगर, डेली रूटीन में ये 7 बदलाव Diabetes के मरीजों के लिए हैं जरूरी


Diabetes Daily Routine: आज के जीवन शैली में आलस्य व अनियमितता की अधिकता हो गई है। इस कारण लोग कम उम्र में ही बीमारियों से घिर जाते हैं। गंभीर बीमारियां जैसे कि डायबिटीज एक जीवन शैली से जुड़ा रोग है। ये बीमारी लोगों के शरीर के अन्य हिस्सों को भी प्रभावित करती है। WHO के मुताबिक मधुमेह रोग लोगों में अंधापन, दिल का दौरा और स्ट्रोक के खतरे को भी बढ़ाता है। डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जो व्यक्ति के शरीर को धीरे-धीरे अपनी चपेट में लेती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि लोगों की दैनिक आदतें और उनका खानपान भी इस गंभीर बीमारी के खतरो को कम करने में कारगर है। आइए जानते हैं कि लाइफस्टाइल में किन बदलावों को लाने से इस बीमारी पर नियंत्रण रखा जा सकता है –

किन लोगों में ज्यादा होता डायबिटीज का खतरा: सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के अनुसार 45 या उससे अधिक उम्र के लोगों में या फिर जो लोग अधिक वजनदार हैं अथवा कम सक्रिय हैं, उनमें डायबिटीज का खतरा अधिक होता है। इसके अलावा, जिन लोगों की फैमिली हिस्ट्री में डायबिटीज हो या जो महिलाएं PCOS से ग्रस्त हैं वो भी डायबिटीज के जल्दी शिकार हो सकते हैं। ऐसे में अपनी दिनचर्या में लोगोंं को निम्नलिखित बदलाव लाने चाहिए।

लोगों को अपनी डाइट में से चीनी व रिफाइंड कार्ब्स की मात्रा को बिल्कुल कम या फिर बंद कर देना चाहिए। साथ ही साथ, पैकेज्ड फूड, जंक फूड, फलों के रस से भी परहेज करें। वहीं, ताजी सब्जियां, फल, मेवे और सरसों व जैतून के तेल का इस्तेमाल अधिक करें।

कम करें खुराक: जो लोग अधिक वजन से परेशान हैं, उन्हें अपनी खुराक पर ध्यान देने की जरूरत है। कोशिश करें कि हर कुछ देर पर खाते रहें लेकिन कम मात्रा में खाएं।

स्मोकिंग-ड्रिंकिंग से करें परहेज: जो लोग अधिक धूम्रपान या फिर शराब का सेवन करते हैं, उनमें डायबिटीज का खतरा भी ज्यादा होता है। ऐसे में स्मोकिंग से परहेज करना जरूरी है, साथ ही शराब के सेवन से भी  बचना चाहिए।

नियमित करें व्यायाम: डायबिटीज के प्रभाव को कम करने के लिए लोगों को नियमित व्यायाम करने की सलाह दी जाती है। रोजाना 30 मिनट तक एक्सरसाइज करने से इन्हें फायदा होगा। एरोबिक एक्सरसाइज, स्ट्रेंथ ट्रेनिंग और हाई इंटेंसिटी इंटर्वल ट्रेनिंग डायबिटीज के मरीजों के लिए लाभदायक है।

दूर भगाएं शारीरिक असक्रियता: ज्यादा देर तक बैठे रहने से भी मधुमेह रोग का खतरा ज्यादा होता है। ऐसे में बैठे रहने से बेहतर है चलते रहें।

वजन पर करें कंट्रोल: मोटे लोगों में डायबिटीज का खतरा अधिक होता है, ऐसे में वजन पर संतुलन रखना जरूरी है।

भरपूर लें विटामिन-डी: एक अध्ययन में पता चलता है कि जिन लोगों में विटामिन डी पर्याप्त मात्रा में मौजूद हो, उनमें टाइप 2 डायबिटीज का खतरा 43 प्रतिशत कम हो जाता है। ऐसे में जिन लोगों में विटामिन डी की कमी हो जाती है, उन्हें डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

{ads}