डायबिटीज के रोगी सर्दियों में जरूर खाएं तिल और मूंगफली, जानिये फायदे

Home Remedies to control Diabetes: आंवला खाने से जहां बैड कोलेस्ट्रोल शरीर में कम बनते हैं और गुड कोलेस्ट्रॉल का निर्माण अधिक मात्रा में होती है

Diabetes Winter Diet Plan: आने वाले दिनों में कोहरे व सर्दी बढ़ने को लेकर मौसम विभाग ने अलर्ट जारी की है। आमतौर पर 15 दिसंबर के बाद से जोरदार ठंड शुरू हो जाती है। 



style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-4669332297958929"
data-ad-slot="6440906807"
data-ad-format="auto"
data-full-width-responsive="true">

इस मौसम में डायबिटीज के मरीजों को दूसरों से अधिक दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। ऐसा इसलिए क्योंकि सामान्य लोगों के मुकाबले मधुमेह रोगियों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है। इस बीमारी को जड़ से खत्म करना लगभग नामुमकिन है। हालांकि, इसे कंट्रोल करने के लिए कई उपाय बताए गए हैं। ऐसे में सर्दियों में कुछ फूड्स के सेवन से शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा काबू में रहती है।

मूंगफली: डायबिटीज रोगियों को अपने खानपान का विशेष ध्यान रखना चाहिए। पोषक तत्वों से भरपूर मूंगफली में फाइबर, प्रोटीन, गुड फैट्स और अल्फा लिपोइक एसिड पाया जाता है। ये सभी तत्व शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा को काबू में रखने का कार्य करते हैं। डॉक्टर्स के मुताबिक टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों को जरूर से मूंगफली खाना चाहिए।

आंवला: आंवला में पॉलीफेनॉल पाया जाता है जो हाई ब्लड शुगर कंट्रोल करता है। पॉलीफेनॉल इंसुलिन गतिरोध की परेशानी को दूर करता है। बता दें कि टाइप 2 के मरीजों को इंसुलिन रेजिजटेंस की समस्या होती है। 



style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-4669332297958929"
data-ad-slot="6440906807"
data-ad-format="auto"
data-full-width-responsive="true">

इसके साथ ही, आंवला में क्रोमियम तत्‍व पाए जाते हैं जो इंसुलिन हार्मोन को मजबूत कर खून में शुगर लेवल को कंट्रोल करते हैं। विटामिन सी से भरपूर आंवला लोगों में कोलेस्ट्रॉल को बढ़ ने नहीं देता है।

तिल: ठंड के मौसम में तिल का सेवन भी फायदेमंद होता है। इसमें फैटी एसिड्स पाए जाते हैं जो  शरीर को बीमारियों से बचाते हैं। साथ ही शरीर को ऊर्जावान बनाते हैं। 

तिल में एंटी-ऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में होते हैं जो फ्री रैडिकल्स से लड़ने की शक्ति प्रदान करते हैं और इसके कारण ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस भी कम होता है। तिल में पिनोरेसिनॉल नामक तत्व मौजूद होता है जो माल्टोस के ब्रेकडाउन के लिए जिम्मेदार होता है। इससे ब्लड में शुगर लेवल भी नियंत्रित रहता है।

अखरोट: सर्दियों में अखरोट खाने से शरीर में गर्माहट बनी रहती है और ठिठुरन कम होती है। डायबिटीज से पीड़ित मरीजों के लिए भी अखरोट का सेवन फायदेमंद साबित हो चुका है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ मधुमेह रोगियों को डाइट में फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थ शामिल करने की सलाह देते हैं। अखरोट में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है।

{ads}