C-Section डिलीवरी करवाने के बाद महिलाओं को किन बातों का ध्यान रखना चाहिए

Cesarean Delivery: यदि आपकी पहली डिलीवरी सिजेरियन हुई है तो दूसरी बार गर्भधारण करने से पहलें ब्रेक लें

 C-Section डिलीवरी करवाने के बाद महिलाओं को किन बातों का ध्यान रखना चाहिए 

C-Section Delivery: गर्भावस्था हर महिला के लिए बहुत खास पल होता है। इस दौरान उनके शरीर में कई शारीरिक, मानसिक एवं भावनात्मक बदलाव आते हैं। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं की अपनी सेहत के प्रति जिम्मेदारी अधिक बढ़ जाती है। इसका कारण है कि उनको खुद के साथ अपने गर्भ में पल रहे शिशु का भी ख्याल रखना पड़ता है। 



style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-4669332297958929"
data-ad-slot="1981374933"
data-ad-format="auto"
data-full-width-responsive="true">

ऐसे में शरीर को अतिरिक्त पोषक तत्वों, विटामिन्स और मिनरल्स की जरूरत होती है। आमतौर पर हर कोई चाहता है कि डिलीवरी नॉर्मल ही हो, लेकिन कई बार किसी जटिलता के कारण तो कभी गर्भवती महिलाओं के दर्द न सह सकने की वजह से सिजेरियन डिलीवरी की जरूरत पड़ती है। ऐसे में सी-सेक्शन से जुड़ी बातों को जानना भी बेहद जरूरी है।

क्या होता है सी-सेक्शन: सिजेरियन डिलीवरी में प्रसव के दौरान ऑपरेशन किया जाता है। इसके बाद गर्भ से शिशु को बाहर निकाला जाता है। ऐसा करने के बाद पेट और गर्भाशय को बंद कर दिया जाता है और डॉक्टर एब्जॉर्ब हो जाने वाले टांके लगा देते हैं।

क्यों की जाती है सिजेरियन डिलीवरी: ज्यादातर देखा गया है कि जब गर्भ में बच्चा पूरी तरह विकसित हो जाता है यानी करीब प्रेग्नेंसी के 39वें महीने में सिजेरियन डिलीवरी की सलाह डॉक्टर्स देते हैं। ऐसा अगर लेबर पेन के दौरान जच्चा-बच्चा की जान खतरे में हो या फिर बच्चे को निकलने में दिक्कत हो रही हो, तब निर्णय लिया जाता है।



style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-4669332297958929"
data-ad-slot="1981374933"
data-ad-format="auto"
data-full-width-responsive="true">

कैसा होना चाहिए पोस्ट डिलीवरी डाइट: शिशु के जन्म के बाद महिलाओं को अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए। अच्छी स्वास्थ्य के लिए उनका खानपान भी हेल्दी रहना चाहिए। लिहाजा, उनकी डाइट में सभी पोषक तत्वों से समाहित खाद्य पदार्थ को शामिल करना जरूरी है। ऐसे में लोगों को अपने दैनिक आहार में प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन, फाइबर से भरपूर खाना खाना चाहिए। वहीं, जिन खाद्य पदार्थों को पचाने में मुश्किल आती है, उन्हें न खाएं।

दूसरी बार गर्भधारण करने में लें ब्रेक: यदि आपकी पहली डिलीवरी सिजेरियन हुई है तो दूसरी बार गर्भधारण करने से पहलें ब्रेक लें। विशेषज्ञों की मानें तो कम से कम 1 साल या डेढ़ साल का इंतजार करने के बाद ही गर्भधारण करें।

{ads}